Wednesday, March 15, 2017

फूलों में खुशबू कहाँ से आती है?

रासायनिक यौगिकों का एक गुण गंध भी है। फूलों में ही नहीं आप जीवन के प्रायः तमाम तत्वों में गंध पाते हैं। भोजन, शराब, फलों, मसालों, सब्जियों वगैरह में गंध होती है। सभी फूलों में खुशबू नहीं होती। कुछ फूल गंधहीन होते हैं। कुछ दुर्गंध भी देते हैं। गुलाब की खुशबू जेरनायल एसीटेट नामक रासायनिक यौगिक के कारण होती है। चमेली की खुशबू नेरोलायडॉल के कारण होती है। फूलों से ही इत्र भी बनता है। फूलों की मुख्य भूमिका वनस्पतियों के प्रजनन में है। एक फूल से परागकण दूसरे में जाते हैं। इसमें हवा के अलावा मधुमक्खियों, तितलियों तथा इसी प्रकार के दूसरे प्राणियों की होती है। उन्हें आकर्षित करने में भी इनके रंग और सुगंध की भूमिका होती है।

हॉलीवुड क्या है?
अमेरिका के लॉस एंजेलस, कैलिफोर्निया में हॉलीवुड एक डिस्ट्रिक्ट है जो फिल्म उद्योग के लिए मशहूर है। इसे यह नाम एचजे ह्विटले ने दिया जिन्होंने 1870 के आसपास यहाँ 500 एकड़ जमीन खरीद कर बस्ती बसाने की योजना बनाई। 1902 में यहाँ मशहूर हॉलीवुड होटल खुला। 1906 में इस इलाके में बायोग्राफ कम्पनी ने एक फिल्म की शूटिंग की। धीरे-धीरे यह फिल्मों का शहर ही बन गया। बहरहाल हॉलीवुड का नाम दुनिया में फिल्म निर्माण के साथ जुड़ने के बाद फिल्म निर्माण से जुड़े शहरों ने अपने नाम के आगे वुड जोड़ना शुरू कर दिया। जैसे बॉलीवुड, कॉलीवुड, टॉलीवुड वगैरह।

चुनाव पांच साल बाद ही क्यों होते हैं?
सभी चुनाव पाँच साल बाद नहीं होते। अलबत्ता हमारे संविधान के अनुच्छेद 63(2) के अनुसार लोकसभा का कार्यकाल पाँच वर्ष है। इसलिए लोकसभा चुनाव पाँच साल में होते हैं। विधानसभाओं के साथ भी ऐसा ही है। लोकसभा पाँच साल के पहले भी भंग की जा सकती है और विशेष परिस्थितियों में उसका कार्यकाल बढ़ाया भी जा सकता है। राज्यसभा में एक सदस्य का कार्यकाल छह साल होता है, पर चुनाव हर दो साल में होते हैं। लोकसभा का पुनर्गठन होता है। मसलन पंद्रहवीं लोकसभा, सोलहवीं लोकसभा। पर राज्यसभा निरंतर चलने वाली संस्था है।

दुनिया का सबसे लम्बा राष्ट्रीय हाइवे कहाँ है?
ऑस्ट्रेलिया का हाइवे नम्बर वन दुनिया का सबसे लम्बा हाइवे माना जाता है। इसकी लम्बाई 14,500 किलोमीटर है। यह हाइवे इस महाद्वीप के सागर तट के समांतर। यानी पूरे महाद्वीप का चक्कर लगाता है।

अंटार्कटिका की खोज किसने की?
करीब दो हजार साल पहले यह माना जाने लगा था कि कोई बड़ा इलाका दुनिया के दक्षिण में है। एक मान्यता यह भी थी कि ऑस्ट्रेलिया का दक्षिणी इलाका दक्षिण अमेरिका से जुड़ा है। पर 1773 में ब्रिटिश अन्वेषक कैप्टेन जेम्स कुक ने अपने दो जहाजों के साथ अंटार्कटिक सर्किल को पार करके उस सम्भावना को खारिज कर दिया। जबर्दस्त ठंड के कारण कैप्टेन कुक को अंटार्कटिक के सागर तट के 121 किलोमीटर दूर से वापस लौटना पड़ा। इसके बाद सन 1820 रूसी नाविकों फेबियन गॉतिलेब वॉन बेलिंगशॉसेन और मिखाइल लजारोव ने अंटार्कटिक को पहली बार देखा। उसके बाद कई नाविकों को इस बर्फानी ज़मीन को देखने का मौका मिला।
राजस्थान पत्रिका के नॉलेज कॉर्नर में प्रकाशित

No comments:

Post a Comment